Yes बैंक धोखाधड़ी मामले में CBI का एक्शन, कई दिग्गज बिल्डरों के ठिकानों पर मारा छापा

नई दिल्ली। साल 2020 में प्रकाश में आया यस बैंक और DHFL की सांठ-गांठ के मामले में सीबीआई अब नए एंगल पर आगे बढ़ रही है। बता दें, इस मामले में 3700 करोड़ की धोखाधड़ी की बात सामने आई थी, जिसकी अभी भी जांच जारी है। ताजा मामले में सीबीआई ने अविनाश भोंसले और शाहिद बलवा के ठिकानों पर छापा मारा और तलाशी ली। जानकारी ये भी है कि इस मामले में सीबीआई के साथ ईडी भी अपनी जांच प्रक्रिया जारी रखे हुई है।

बता दें, ये मामला यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर के अपने पद का गलत इस्तेमाल कर DHFL को फायदा पहुंचाने से जुड़ा है। साथ ही इसके बदले में राणा कपूर और उनके परिवार को निजी लाभ भी हुआ। दरअसल यस बैंक ने DHFL के डिबेंचर में करीब 3,700 करोड़ रुपये निवेश किया और बदले में राणा कपूर और उनके परिवार ने इसका निजी लाभ उठाया।

खबरों के मुताबिक सीबीआई ने मुंबई और पुणे में 8 जगहों पर छापा मारा है। सीबीआई शाहिद बलवा और अविनाश भोसले के ठिकानों पर तलाशी कर रही है। सीबीआई YES Bank – DHFL धोखाधड़ी मामले की जांच कर रही है और इसी सिलसिले में उसने ये छापा मारा है।

इससे पहले सीबीआई ने इस मामले में Radius Group के संजय छाबड़िया को गुरुवार को गिरफ्तार किया था। बाद में शुक्रवार को उन्हें सीबीआई की एक स्पेशल कोर्ट में पेश किया गया। छाबड़िया को 6 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। सीबीआई मामले में उनसे और पूछताछ कर रही है।

दरअसल, छाबड़िया की कंपनी ने DHFL और Yes Bank से बड़ी मात्रा में लोन लिया था। सीबीआई ने इसी साल फरवरी में संजय छाबड़िया और रेडियस ग्रुप के मुंबई और पुणे के ठिकानों पर छापा मारा था।

इस मामले में अन्य आरोपियों में DHFL के प्रमोटर्स कपिल और धीरज वधावन अभी जेल में हैं। उनके खिलाफ यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर के साथ मिलकर कथित धोखाधड़ी के मामले की जांच चल रही है। राणा कपूर भी इस समय जेल में हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 − 6 =

Back to top button