Trending

UP Election: बसपा ने फिर अपनाई 2007 की रणनीति, ब्राह्मण सम्मेलन से बसपा का चुनावी अटैक

UP Election में अब 7 महीने से कम समय बचा है,ऐसे में सभी राजनीतिक दल अपनी चुनावी तैयारियाँ शुरू कर चुके हैं।चुनाव का समय चलते बहुजन समाज पार्टी ने भी चुनावी बिसात बिछानी शुरू कर दी है. बसपा आज अयोध्या से ब्राह्मण सम्मेलन की शुरुआत कर रही है जिसमे सतीश चंद्र मिश्रा (बसपा के राष्ट्रीय महासचिव) की अगुवाई में होने वाले इस सम्मेलन में पार्टी यह बताने की कोशिश करेगी कि वह ब्राह्मणों की सबसे बड़ी हितैषी कैसे बनेगी।

आपको बता दें कि बसपा एक बार फिर 2007 की रणनीति अपना कर यूपी की सत्ता में काबिज होना चाह रही है। साल 2007 के विधानसभा चुनाव में बसपा को ब्राह्मण समाज ने हाथों हाथ लिया था। बसपा प्रबुद्ध वर्ग के सम्मान, सुरक्षा और तरक्की आदि को लेकर विचार संगोष्ठी की शुरुआत अयोध्या से कर रही है। आगामी 24 और 25 जुलाई को अम्बेडकर नगर,26 जुलाई को इलाहाबाद, 27 जुलाई को कौशाम्बी, 28 जुलाई को प्रतापगढ़ और 29 जुलाई को सुल्तानपुर में इसी तरह के आयोजन होंगे। बसपा अपना दलित और पिछड़ा वोट बैंक बचाने के लिए भी सभाएं करेगी। जल्द ही मायावती की अध्यक्षता में सर्व समाज सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे।हालांकि बसपा ने ब्राह्मण सम्मेलन का नाम बदल कर ‘प्रबुद्ध वर्ग के सम्मान में विचार गोष्ठी’ कर दिया है।

बसपा ने खुद को ब्राह्मणों का हितैषी दिखाने के लिए एक चाल चली है।पूरे प्रदेश को झकझोरने वाले कानपुर के बिकरू कांड के बाद पुलिस एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे के शार्प शूटर रहे अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे का केस अब बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा लड़ेंगे।

अनुषी गुप्ता

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − 2 =

Back to top button