जेल की सजा काट रहे बसपा नेता अनुपम दुबे की बढ़ीं मुश्किलें, संपत्ति कुर्क करने का आदेश जारी

लखनऊ। प्रदेश में सत्ता की वापसी के बाद से अपराधियों और माफियाओं की शामत आ गई है। लगातार एक के बाद एक अपराधी पर चाबुक चल रहा है। इसी कड़ी में बुधवार को यूपी के मैनपुरी  जेल में बंद हत्यारोपी बसपा नेता अनुपम दुबे के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई। बताया जा रहा है कि समाज विरोधी क्रियाकलाप के माध्यम से अवैध रूप से अर्जित की गयी उनकी और उनके सहयोगियों की 19 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया गया है।

खबरों के मुताबिक़ अनुपम दुबे की 9.53 करोड़ रुपये की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश दिया गया है। दरअसल, राजस्व विभाग ने अनुपम दुबे, उसके भाई अनुराग दुबे और दो अन्य सहयोगियों की कुल 19 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति चिन्हित की है। जिसके बाद जिलाधिकारी ने चारों की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश दिया है।

दरअसल, प्रभारी निरीक्षक मऊदरवाजा ने चारों के खिलाफ गिरोहबंद एवं समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम के अंतर्गत अवैध रूप से अर्जित की गयी और उनके परिजनों की चल अचल संपत्ति के जब्तीकरण के बारे में जिला मजिस्ट्रेट को रिपोर्ट दी थी। जिसके बाद जिलाधिकारी की ओर से सभी की संपत्तियों की कुर्की के किए गए हैं।

राजस्व विभाग के मुताबिक बसपा नेता अनुपम दुबे के पास 9 करोड़ 53 लाख 27 हजार 930 रुपये, बसपा नेता के भाई अनुराग दुबे उर्फ डब्बन के पास 9 करोड़ 43 लाख 12 हजार 91 रुपये, अभिषेक रस्तोगी उर्फ सोनू और पंकज रस्तोगी की संपत्ति 50 लाख 82 हजार 600 रुपये आंकी गई है।

बताया जा रहा है कि जिलाधिकारी के आदेश के बाद जल्द ही चरों की 19 करोड़ से ज्यादा की चल-अचल संपत्ति कुर्क की जाएगी। गौरतलब है कि फतेहपुर के कासरट्टा मोहल्ला निवासी अनुपम दुबे ने 14 मई 1996 को ट्रेन में पुलिस के इंस्पेक्टर रामनिवास यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके अलावा अनुपम दुबे के खिलाफ 46 मुक़दमे दर्ज है। इसी तरह भाई अनुराग दुबे के खिलाफ 10, सहयोगी अभिषेक रस्तोगी और पंकज रस्तोगी के खिलाफ भी दो-दो मुक़दमे दर्ज है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

17 − five =

Back to top button