ऐसा क्या हुआ? …जो भाजपा ने ऐन वक्त पर चेंज किया माइंड, टाला ‘घोषणा पत्र कार्यक्रम’

लखनऊ। यूपी चुनावों के मद्देनजर आज यानी रविवार को भाजपा अपना घोषणा पत्र  जग जाहिर करने वाली थी। सारी प्लानिंग हो चुकी थी। पूरा घोषणापत्र भी तैयार था। साथ ही सभी भाजपा उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर काफी उत्साह भी था। हो भी क्यों न… एक बार घोषणा पत्र, जारी होने के बाद खुल कर उम्मीदवार भाजपा के विजन को जनता के समक्ष पेश कर सकते थे। मगर, अचानक कुछ ऐसा हो गया, जिसने भाजपा को ऐसा करने से रोक दिया।

खबरों के मुताबिक़ यूपी चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी लखनऊ में आज घोषणापत्र जारी करने वाली थी। लेकिन भारत रत्न लता मंगेशकर के निधन के कारण पार्टी की ओर से आज घोषणापत्र जारी नहीं किया जाएगा।

पार्टी की ओर से कहा गया है कि आज देश के लिए बहुत दुखद समाचार आया है। लता जी का निधन हो गया है। आज संगीत की नही बल्कि सबका नुकसान है। कार्यक्रम स्थल पर यूपी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह मौजूद रहे। उनके साथ पार्टी के अन्य नेता और कार्यकर्ताओं ने लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि दी।   

बता दें, आज जारी होने वाले घोषणापत्र को भाजपा ने ‘लोक कल्याण संकल्प पत्र 2022’ नाम दिया था। घोषणापत्र जारी करने की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। कार्यक्रम में यूपी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य शामिल थे।

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि विश्व की मशहूर गायिका, जीवनपर्यंत संगीत की दुनिया में अभूतपूर्व योगदान देने वाली भारत रत्न सुर साम्राज्ञी आदरणीय लता मंगेशकर जी का निधन अत्यंत दु:खद है। दीदी जी का निधन संपूर्ण विश्व के संगीत जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। संगीत के क्षेत्र में उनके अतुलनीय योगदान को आने वाली पीढ़ियां सदैव याद करते हुए प्रेरणा ग्रहण करेंगी। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें तथा शोक संतप्त परिजनों व प्रशंसकों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

योगी आदित्यनाथ ने लता मंगेशकर के निधन पर कहा कि स्वर कोकिला, ‘भारत रत्न’ आदरणीया लता मंगेशकर जी का निधन अत्यंत दुःखद और कला जगत की अपूरणीय क्षति है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा शोकाकुल परिजनों व उनके असंख्य प्रशंसकों को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करें।

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सुर व संगीत की पूरक लता दीदी ने अपनी सुर साधना व मंत्रमुग्ध कर देने वाली वाणी से न सिर्फ भारत बल्कि पूरे विश्व में हर पीढ़ी के जीवन को भारतीय संगीत की मिठास से सराबोर किया। संगीत जगत में उनके योगदान को शब्दों में पिरोना संभव नहीं है। उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। उन्होंने कहा कि मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं कि समय-समय पर मुझे लता दीदी का स्नेह और आशीर्वाद प्राप्त होता रहा। अपने अतुलनीय देशप्रेम, मधुर वाणी और सौम्यता से वो सदैव हमारे बीच रहेंगी। उनके परिजनों व असंख्य प्रशंसकों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। ओम शांति शांति।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button