विकास की नई कहानी लिख रहा यूपी, अब बमबारी की जगह ‘हर हर-बम बम’ की गूंज : सीएम योगी

लखनऊ। 23 फरवरी 2022 को यूपी विधानसभा चुनावों के तहत लखनऊ में चौथे चरण के लिए मतदान होना तय है। ऐसे में सोमवार को शाम करीब 4:30 बजे के आस पास खुद सीएम योगी ने लखनऊ के उत्तरी क्षेत्र की जनता को भाजपा के पक्ष में लाने का बीड़ा उठाया। इसके तहत लखनऊ उत्तर के भाजपा प्रत्याशी डा. नीरज बोरा के प्रतिनिधित्व में मड़ियांव चौराहे पर एक विशाल महासंकल्प सभा का आयोजन किया गया, जिसमें प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए।

वहीं इस दौरान सीएम योगी के साथ उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, भाजपा प्रत्याशी नीरज बोरा, सपा से भाजपा में आई अपर्णा यादव और युवा नेता नीरज सिंह ने मंच साझा किया।

बता दें, सभा की शुरुआत भाजपा प्रत्याशी नीरज बोरा के संबोधन से हुई, जहां पर उन्होंने इस सभा में शामिल होने आए तमाम भाजपा कार्यकर्ताओं और क्षेत्रवासियों का स्वागत और अभिनन्दन किया। साथ ही सभा में शामिल होने के लिए और भाजपा के समर्थन के लिए संकल्प लेने के लिए आभार प्रकट किया।

इसके बाद सीएम योगी ने मंच संभाला और सभा में शामिल हुई जनता के उत्साह को और भी कई गुना बढ़ा दिया। इस दौरान सबसे पहले सीएम योगी ने बीते पांच सालों के शासन काल में भाजपा द्वारा कराए गए विकास कार्यों का विस्तार से ब्यौरा दिया और उसके बाद विपक्षी दलों पर भी तीखा कटाक्ष किया।

भाजपा के विकास कार्यों की चर्चा करते हुए सीएम योगी बोले कि भाजपा के बीते शासन काल में प्रदेश के किसानों को जो सम्मान मिला। इससे पहले किसी भी सरकार ने हमारे अन्नदाताओं को नहीं दिया।

उन्होंने बताया कि साल 2017 में जब भाजपा ने प्रदेश में सत्ता हासिल की और मुझे सीएम बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ तो प्राधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रतिनिधत्व में हमने सबसे पहले प्रदेश के अन्नदाताओं की बिगड़ी हुई दशा के बारे में सोचा और विचार किया। ताकि भविष्य में किसान आत्मनिर्भर बन सके। उसे भविष्य में किसी के आगे बार-बार हाथ न फैलाना पड़े।

सीएम ने कहा कि इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार ने किसान पेंशन योजना, किसान ऋण कार्ड और पशुधन योजना जैसी कई नीतियां न केवल तैयार कीं, बल्कि उन्हें अमल में भी लाए। वहीं भविष्य में यदि प्रदेश की जनता हमें फिर से मौक़ा देती हैं, तो आगे भी हम इस दिशा में काम करते रहेंगे।

इसी के साथ सीएम योगी ने अपनी बातों का रुख पलटते हुए कहा कि आज यूपी में चौथे चरण के लिए चुनाव प्रचार का अंतिम दिन है और ये इसके लिए मेरा अंतिम भाषण है। ऐसे में मैं यह बताना चाहता हूं कि सभी लोगों को मिलकर लखनऊ की नौ विधानसभा सीटों से खड़े सभी भाजपा उम्मीदवारों को जिताना है और उत्तर के विकास में अभूतपूर्व योगदान देने वाले लखनऊ के उत्तर डा. नीरज बोरा को भी सिर आंखों पर बिठाना है। तभी प्रदेश में भाजपा का सुशासन फिर से कायम हो पाएगा।

नीरज बोरा की तारीफ़ करते हुए सीएम बोले कि कोरोना काल का वह भीषण समय जब सभी लोगों की स्थिती खराब थी। जगह-जगह लोग मर रहे थे, तो ये जो विपक्षी दल है, परिवारवादी और अवसरवादी लोग हैं। सभी अपने-अपने घरों में बैठे हुए थे। कोई भी समाजसेवा के लिए, लोगों की मदद करने के लिए बाहर निकल कर नहीं आया।

उन्होंने कहा, “वहीं ऐसे समय में लखनऊ उत्तर से विधायक रहे हमारे नीरज बोरा, जो कि इसी क्षेत्र से दोबारा भाजपा के उम्मीदवार भी हैं। आगे से आगे जनसेवा में जुटे रहे। लोगों को राशन-पानी, दवा-इलाज के साथ-साथ उनके दुःख-सुख में भागीदार बने। वहीं खास यह रहा कि ये प्रदेश में ऐसे विधायक रहे, जो अपने निजी खर्च पर कोरोना काल में लोगों की मदद के लिए लगातार आगे आते रहे।

सीएम योगी ने कहा कि इस बात को मैंने खुद देखा और महसूस किया। वे बोले कि जब प्रदेश और केद्र सरकार की तरफ से लोगों के लिए मदद का सामान लाया जाता था तो कई बार यह देखने को मिला कि नीरज बोरा अपने निजी खर्च पर दूसरी ओर से लोगों की सेवा के लिए आवश्यक राहत सामग्री की व्यवस्था करके पहुंच जाते थे।

इसके अलावा सीएम योगी ने यह भी कहा कि यह भाजपा का शासन काल था, जब देश में 100 करोड़ से अधिक लोगों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगाई गई। वहीं अगर कहीं गलती से इन हालातों में सपा-बसपा या कांग्रेस की सरकार होती तो मुमकिन है ऐसी महामारी के काल में कोरोना वैक्सीन भी ब्लैक हो जाती।

उन्होंने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि उस समय जब वैक्सीन आई तो विपक्षियों ने इसे मोदी वैक्सीन बता दिया। अब मैं यह पूछता हूं कि यदि मोदी वैक्सीन से करोड़ों लोगों की जान बच सकती है तो इसमें बुराई क्या थी?

अपनी बातों को आगे बढ़ाते हुए सीएम ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश की सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश के विकास में सोचना शुरू कर दिया था और ‘सबका साथ-सबका विकास’ की सोच के साथ ही निरंतर कार्य किया।

उन्होंने कहा कि यह उसी का नतीजा है कि आज यूपी देश में नंबर वन के स्थान पर है। प्रदेश से माफियाओं का सफाया कर दिया गया है। आज यह भाजपा के शासन का ही असर है कि माफिया और गुंडे इस बात से घबराते हैं कि यदि वे किसी भी अनुचित गतिविधि में शामिल होंगे तो 24 घंटों के भीतर भाजपा सरकार उनके घर तक पहुंच जाएगी।

उन्होंने कहा कि यही वजह है कि आज प्रदेश में बमबारी की जगह हर-हर… बम-बम… के नारे गूंजते हैं। नहीं तो सपा और बसपा की सरकारों में माफियाओं और गुडों का ही बोलबाला था।

वहीं विपक्षी दलों को कटघरे में खड़ा करते हुए उन्होंने कहा कि आज समाजवादी पार्टी ने जितने भी उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं, उनमें आधे से अधिक माफिया और गुंडे है। और तो और गुजरात ब्लास्ट में दोषी करार आतंकी के अब्बा जान सपा का प्रचार कर रहे हैं। ऐसे में इस बात का साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि यदि इन लोगों को दोबारा सत्ता में आने का मौक़ा मिला तो प्रदेश का क्या हाल होगा?

उन्होंने इसके लिए एक विशेष लाइन के माध्यम से इनका परिचय भी दिया जो कुछ इस प्रकार है… “नाम समाजवादी, काम आतंकवादी, सोच परिवारवादी और नीति अवसरवादी।”

उन्होंने कहा, “इसीलिए भाजपा की प्रदेश सरकार ने माफियाओं के लिए भी बुल्डोजर और एक्सप्रेस वे के लिए भी बुल्डोजर मंगवा लिए हैं।”

वहीं उन्होंने देश के नौजवानों के विषय में बात करते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने नौजवानों के बेहतर भविष्य और उनकी बेहतर शिक्षा व्यवस्था के लिए भी एक दमदार विजन तैयार किया है, जिसे अगले शासन काल में साकार रूप दे दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश का नौजवान स्मार्ट होगा, तभी यूपी स्मार्ट होगा। इसी के साथ सीएम योगी ने अपनी स्पीच को विराम देते हुए सभी लोगों से 23 तारीख को होने वाले चौथे चरण के मतदान में “पहले मतदान फिर जलपान” के संदेश के साथ कमल का बटन दबाने की अपील की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four − four =

Back to top button