चुनावों से ठीक पहले सपा को तगड़ा झटका, मुलायम की छोटी बहू भाजपा में शामिल

लखनऊ। मुलायम सिंह की बहू अपर्णा यादव को लेकर बीते काफी दिनों से यह कयास लगाए जा रहे थे कि वे जल्द ही भाजपा का दामन थाम सकती हैं। ऐसे में इन कयासों को हकीकत में बदलते हुए अपर्णा ने आधिकारिक तौर पर भाजपा का दामन थाम लिया है। बताया जा रहा है कि बुधवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अपर्णा को भाजपा में शामिल कराया।

बता दें कि उत्तराखंड की अपर्णा यादव हमेशा से ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पीएम मोदी की तारीफ करती आई हैं। उन्होंने राम मंदिर के लिए 11 लाख 11 हजार का चंदा भी दिया था। इसके साथ दत्तात्रेय होसबले के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह बनने पर उनके साथ अपनी फोटो भी शेयर की थी।

खबरों के मुताबिक़ अपर्णा ने जब भाजपा ज्वाइन की तो इस मौके पर स्वतंत्र देव सिंह के साथ यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद थे। अपर्णा यादव को बीजेपी की सदस्यता दिलाकर दोनों ने सपा और अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला।

वहीं बीजेपी में आने के बाद अपर्णा यादव ने कहा कि मैं हमेशा से पीएम मोदी से प्रभावित रहीं हूं। राष्ट्र मेरे लिए सबसे पहले है। मैं अब राष्ट्र की अराधना करने निकली हूं, जिसमें मुझे सबका सहयोग चाहिए। अपर्णा ने आगे पीएम मोदी की स्वच्छ भारत अभियान, महिलाओं, रोजगार आदि के लिए चलाए गए अभियानों की तारीफ की।

अपर्णा यादव मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं। अपर्णा यादव ने 2017 का विधानसभा चुनाव लखनऊ की कैंट सीट से चुनाव लड़ा था। समाजवादी पार्टी की यह उम्मीदवार बीजेपी की प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी से हार गई थीं। हालांकि, अपर्णा ने करीब 63 हजार वोट हासिल किए थे।

उधर, रीता बहुगुणा जोशी के सांसद बनने के बाद यह सीट खाली हुई थी जिस पर 2019 में उपचुनाव हुआ था जिसमें भाजपा ने ही जीत दर्ज की थी और सुरेश चंद तिवारी चौथी बार विधायक बने थे। रीता बहुगुणा इस सीट से अपने बेटे के लिए टिकट की मांग कर रही हैं। चर्चा ये भी है कि यहां से कुछ और भी दावेदार हैं। सूत्रों की मानें तो बीजेपी अपर्णा की सीट बदलना चाहती है, पर उन्हें चुनाव लड़ने पर सहमत है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button