Trending

टोक्यो ओलंपिक 2020 में पीवी सिंधु का शानदार प्रदर्शन,पहुंची सेमीफाइनल में

Publish Date: Fri, 30 Jul 2021 4: 45 PM (IST) | Author: Abhay Kumar Mishra पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में बैडमिंटन के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में जापान की अकाने यामागुची को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है।

पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में बैडमिंटन के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में जापान की अकाने यामागुची को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है।

बैडमिंटन के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में भारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु और जापान की अकाने यामागुची के बीच विश्व स्तरीय खेल देखने को मिला है। खेल के प्रारंभ में पीवी सिंधु थोड़ा सुस्त दिख रही थी लेकिन फिर खेल के आगे बढ़ने पर उन्होंने रफ्तार पकड़ ली। सिंधु ने जोरदार खेल दिखाते हुए पहला गेम 21-13 से जीत लिया। यह गेम 23 मिनट तक चला और सिंधु ने अपना पहला गेम जीतकर 1-0 की बढ़त बनाई। दूसरे गेम में भी पीवी सिंधु ने जोरदार खेल का प्रदर्शन करते हुए 22-20 से गेम जीत लिया और इसी के साथ सिंधु ने सेमीफाइनल में प्रवेश भी पा लिया ।कांटे का यह मुकाबला पूरे 56 मिनट तक चला।

पीवी सिंधु का यामागुची के खिलाफ हमेशा से ही शानदार रिकॉर्ड रहा है। उन्होंने यामागुची के खिलाफ 18 में से 11 मुकाबले जीते हैं जबकि उन्हें सिर्फ 7 बार ही हार का सामना करना पड़ा है।

अकाने यामागुची को हराने से पहले टोक्यो ओलंपिक के 7वें दिन पीवी सिंधु ने डेनमार्क की मियां ब्लिचफेल्ट को हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था। सिंधु ने 41 मिनट तक के मुकाबले में मिया के खिलाफ 21-15 और 21-13 से जीत दर्ज की थी। वही यामागुची ने प्री-क्वार्टर फाइनल में दक्षिण कोरिया की गायुन किम को 2-0 से हराया था।

पीवी सिंधु ने हमेशा ही बड़े टुर्नामेंट्स में अच्छा प्रदर्शन किया है। 05 साल पहले रियो डी जेनेरियो में रजत पदक से और विश्व चैंपियनशिप में उनके शानदार प्रदर्शन बेहद स्पष्ट रहे हैं। वर्ष 2017 और 2018 में सिंधु ने रजत पदक और 2013 तथा 2014 में कांस्य पदक जीता था, वर्ष 2019 में विश्व चैंपियनशिप में उन्होंने में स्वर्ण पदक जीता था।

गुरुवार को हुए मैच के बाद पीवी सिंधु ने कहा कि कई अनुभवी लोगों ने उन्हें इस टूर्नामेंट के महत्व को समझाया है और यह भी कहा है कि इस टूर्नामेंट में मैच दर मैच की रणनीति पर चलना बेहतर होगा। उन्होंने एक वेबसाइट से बातचीत करते हुए कहा कि बहुत से लोगों ने मुझसे जो कहा है वह इसे एक तारीफ के रूप में लूंगी। लेकिन मेरे लिए हर मैच महत्वपूर्ण है, हर बिंदु पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है ना कि सिर्फ एक मैच पर।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 4 =

Back to top button