पंजाब में करारी हार के बाद सीएम चन्नी ने दिया इस्तीफा, सिद्धू बोले- चिंता नहीं चिंतन जरूरी

नई दिल्ली। पंजाब में करारी शिकस्त के बाद 18 सीटों पर सिमटी कांग्रेस के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने 10 मार्च को सामने आए नतीजों को देखने के बाद शुक्रवार को राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

बता दें, विधानसभा चुनावों में चन्नी, प्रकाश सिंह बादल और अमरिंदर सिंह समेत कई दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा। चन्नी दोनों सीटों पर हार गए जहां से उन्होंने चुनाव लड़ा।

उन्हें भदौर सीट से आप के लाभ सिंह उगोके ने 37,558 मतों के अंतर से हराया। वहीं चमकौर साहिब से वह आप के चरणजीत सिंह से 7,942 मतों के अंतर से हारे।

दूसरी ओर कांग्रेस की हार के हताश नजर आ रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि अपनी इस हार पर चिंतन करने की जरूरत है और इस लड़ाई को दोबारा से शुरू करना होगा।

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जिन लोगों ने सिद्धू के लिए गड्ढे खोदे वे उनसे 10 गुणा ज्यादा गहरे गड्ढों में दफन हो गए… कहीं से फिर शुरूआत करनी पड़ेगी, चिंता नहीं चिंतन करना पड़ेगा, फैसला जनता की अदालत में हो गया है।

खबरों के मुताबिक़ पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की हार के बाद शुक्रवार को राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को अपना इस्तीफा सौंपा।

चन्नी की अगुवाई वाले मंत्रिमंडल ने विधानसभा भंग करने की सिफारिश करते हुए आम आदमी पार्टी की अगुवाई वाली सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त कर दिया।

राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने राज भवन गए चन्नी ने नतीजों के एक दिन बाद पत्रकारों से कहा, ‘‘मैंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।’’

गौरतलब है कि कांग्रेस को पंजाब विधानसभा चुनावों में करारी शिकस्त मिली है। आम आदमी पार्टी ने 117 सदस्यीय विधानसभा में 92 सीटें जीती जबकि कांग्रेस 18 सीटों पर सिमट गयी।

वहीं आप ने शिरोमणि अकाली दल-बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन का भी सफाया कर दिया। शिअद को तीन सीटें जबकि भाजपा को दो और बसपा को महज एक सीट मिली।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

one × three =

Back to top button