विधायक बोरा के प्रयासों से अभिषेकपुरम पेयजल योजना शुरु, आशुतोष टंडन ने किया लोकार्पण

लखनऊ। अमृत प्रोग्राम के तहत 19.7 करोड़ की लागत से बनकर तैयार अभिषेकपुरम पेयजल योजना का शनिवार को शुभारंभ हुआ। इस योजना का लोकार्पण नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन गोपाल के द्वारा किया गया। इस मौके पर लखनऊ उत्तर के विधायक डा. नीरज बोरा भी उपस्थित रहे। बता दें कि इसका आयोजन परिणय मैरिज लॉन 60 फीटा रोड जानकीपुरम में किया गया।

लोकार्पण के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए आशुतोष टंडन ने कहा कि 5 साल बाद चुनाव में जा रहे हैं लेकिन हमको बहुत संतोष है कि हमारे पास सरकार के गौरवशाली कार्यों की इतनी लम्बी लिस्ट है कि सीना चौड़ा करके हम जनता के सामने जाएंगे।

उन्होंने तीन भागों में कार्यो को बताते हुए कहा कि 500 साल के संघर्ष के बाद राम मंदिर निर्माण हो रहा है, धारा 370. 35 ए. को भाजपा सरकार ने हटा कर दिखाया। लोग कहते हैं मोदी है तो मुमकिन है। मोदी सरकार की जितनी योजनाएं है जनहित में किसी ने इतनी योजनाएं नहीं दी। जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना ,गैस कनेक्शन, बिजली कनेक्शन, शौचालय, आयुष्मान भारत, आदि।

वहीं जनसभा को संबोधित करते हुए विधायक नीरज बोरा ने कहा कि यहां पर बड़ी पानी की टंकी बनाई गई है। साथ ही चार नलकूप की स्थापना भी हुई है। जिसका लाभ क्षेत्र की जनता को मिलेगा।

उन्होंने कहा कि करीब चार सालों के प्रयास के बाद बड़ी कठिनाइओं से आज यह योजना पूरी तरह बनकर तैयार हुई है। उन्होंने बताया कि बहुत कठिन प्रयासों के बाद इस क्षेत्र के पार्कों में नलकूप और टंकी लग पाई है।

उन्होंने कहा कि इससे पहले जब सीवर के कनेक्शन और पानी के कनेक्शन होते थे तो लोगों से पैसे लिए जाते थे। लेकिन भाजपा सरकार ने यह सुनिश्चित किया कि हर घर में हम कनेक्शन निशुल्क देंगे और आज यह बड़ी योजना क्षेत्रवासियों को समर्पित की जा रही है।

अपनी बातों को आगे बढ़ाते हुए विधायक बोरा ने कहा कि क्षेत्रिय विकास के अंतर्गत जानकीपुरम के दोनों वार्डो में 100 करोड़ से अधिक का व्यय किया गया है। उन्होंने कहा कि यहां काफी समय से सीवर लीकेज और सड़कों पर जलभराव की समस्या बनी हुई थी जिसे भाजपा सरकार द्वारा निस्तारित किया गया।

बता दें कि 2014 में पीएम मोदी द्वारा यह अमृत योजना शुरु की गई थी। यह अमृत योजना अटल विहारी वाजपेयी के नाम पर है।

यहां देखें वीडियो

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button