पिछली सरकारों की अकर्मण्यता से लंबित थीं 18 कृषि परियोजनाएं : सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को विपक्ष पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि जनविरोधी विपक्षी सरकारों की अकर्मण्यता के कारण विगत पांच दशकों से प्रदेश में 18 कृषि कल्याणकारी परियोजनाएं लंबित थीं।

सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा कि  पांच नदियों ‘घघरा, सरयू, राप्ती, बाणगंगा व रोहिणी’ को जोड़ने वाली ‘सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना’ जल संसाधनों के समुचित उपयोग को सुनिश्चित करती ‘प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना’ की सबसे बड़ी परियोजना है। इस युगांतकारी सौगात के लिए प्रधानमंत्री मोदी का हार्दिक आभार!

नदी जोड़ो परियोजनाको साकार करने वाला पहला राज्य

मुख्यमंत्री ने लिखा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में ‘सरयू नहर परियोजना’ के माध्यम से श्रद्धेय अटल जी के स्वप्न ‘नदी जोड़ो परियोजना’ को साकार करने वाला देश का प्रथम राज्य उत्तर प्रदेश है। इस योजना से प्रदेश के 8 आकांक्षात्मक जनपदों में से 4 जनपद भी इससे लाभान्वित होंगे।

सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजनासमृद्धि के नव प्रवाह का माध्यम

योगी आदित्यनाथ ने आगे लिखा कि ग्राम विकास के प्रणेता राष्ट्र ऋषि नानाजी देशमुख की कर्मभूमि जनपद बलरामपुर में राष्ट्र को समर्पित होने जा रही ‘सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना’ उत्तर प्रदेश में समृद्धि के नव प्रवाह का माध्यम बनेगी। इस योजना से लगभग 30 लाख से अधिक किसानों की दशकों पुरानी साध को पूर्ण करने के लिए प्रधानमंत्री का आभार है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना को भी अपनी सरकार की उपलब्धि बताते हुए कहा है कि ‘सपा के समय तीन चौथाई बन चुकी ‘सरयू राष्ट्रीय परियोजना’ के शेष बचे काम को पूर्ण करने में उप्र भाजपा सरकार ने पांच साल लगा दिए। वर्ष 2022 में फिर सपा का नया युग आएगा… विकास की नहरों से प्रदेश लहलहाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen + twenty =

Back to top button