Trending

ओवैसी की पार्टी AIMIM ने लगाया बसपा-कांग्रेस-सपा और बीजेपी पर मुस्लिमों के साथ धोखे का आरोप

प्रयागराज पहुंचे मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कांग्रेस, बसपा, बीजेपी के साथ समाजवादी पार्टी के पर जमकर हमला बोला है.

उत्तर प्रदेश में इन दिनों जातियों के नाम पर सम्मेलन की सियासत जोरों पर चल रही है. बीएसपी के साथ ही बीजेपी और समाजवादी पार्टी सम्मेलनों के जरिए ब्राह्मणों को लुभाने की मुहिम छेड़े हुए हैं. इन बड़ी पार्टियों की उठापटक के बीच असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) भी मंडलों में सम्मेलन की शुरुआत करने जा रही है. मंडल स्तर पर होने वाले इन सम्मेलनों में खुद पार्टी मुखिया ओवैसी (Owaisi) भी शामिल होंगे. 

यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मंगलवार को प्रयागराज (Prayagraj) पहुंचे मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कांग्रेस, बसपा, बीजेपी के साथ समाजवादी पार्टी के पर जमकर हमला बोला है.

बसपा-कांग्रेस पर मुस्लिमों के साथ धोखे का आरोप

एमआईएम प्रदेश अध्यक्ष ने सपा के साथ ही बसपा और कांग्रेस पार्टी पर भी मुस्लिमों के साथ वादाखिलाफी का आरोप लगाया. एमआईएम प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने सरकार में आने से पहले वादा किया था कि मुस्लिम समाज की शिक्षा में बेहतरी के लिए अल्पसंख्यक बाहुल्य इलाकों में उर्दू स्कूल खोले जाएंगे. लेकिन समाजवादी पार्टी की हुकूमत में मुस्लिम इलाकों में पुलिस स्टेशन खोला गया. जिसके बाद मुस्लिम नौजवानों को आतंकवाद के झूठे मुकदमों में फंसा कर उनकी जिंदगी को बर्बाद किया गया.

यूपी सरकार की कानून व्यवस्था पर भी सवाल

योगी सरकार पर भी साधा निशाना
इस दौरान AIMIM प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने यूपी की योगी सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि मौजूदा सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरीके से फेल है. योगी जी की सरकार में एनएसए को 151 के चालान की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है. लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है. गोरखपुर में कुछ दिनों पहले हुए एक हत्याकांड का जिक्र करते हुए यूपी सरकार की कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़ा किया.

100 से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान 
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने 100 से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. जिसमें एमआईएम के साथ ओमप्रकाश राजभर की पार्टी के साथ ही दूसरी पार्टियों का गठबंधन है जिसको भागीदारी संकल्प मोर्चा का नाम दिया गया है. 

खुले हैं पार्टी के दरवाजे 
शौकत अली का कहना है कि अभी उनकी कोशिश है कि दोनों बड़ी रीजनल बड़ी पार्टियों के साथ गठबंधन हो जाए, जिससे वोटों का बिखराव ना हो और जिससे बीजेपी को दुबारा सत्ता में आने से रोका जा सके. अगर गठबंधन नहीं हुआ, तब भागीदारी संकल्प मोर्चा प्रदेश की सभी 403 विधानसभा में अपने उम्मीदवार उतारेगी. 

समाजवादी पार्टी-कांग्रेस ने मुस्लिमों के साथ धोखा किया-AIMIM
प्रदेश अध्यक्ष ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा, उन्होने कहा कि मुल्क की आजादी के बाद मुस्लिमों ने कांग्रेस को अपनी पार्टी माना, लेकिन कांग्रेस ने मुस्लिमों के साथ धोखा किया. 1992 में बाबरी विध्वंस के बाद मुसलमानों ने मुलायम सिंह यादव को अपना नेता माना जिसकी बदौलत मुलायम सिंह यादव कई बार यूपी के सीएम भी बने, मायावती भी यूपी की सीएम बनी. लेकिन मुसलमानों को उनका अधिकार किसी भी दल ने नहीं दिया.

मुसलमानों के साथ अलग-अलग जगहों पर जुल्म हुए-शौकत अली
उन्होने आरोप लगाया कि लगातार मुसलमानों के साथ उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जगहों पर जुल्म हुए. आज लोग दलित, ब्राह्मण, यादव और ठाकुर की बात कर रहे हैं. लेकिन मुस्लिम की बात करना गुनाह हो गया है. उन्होंने दावा किया है कि भागीदारी संकल्प मोर्चा की अगर सरकार बनती है तो यूपी में 5 साल में 5 अलग-अलग वर्गो के मुख्यमंत्री बनेंगे. साथ ही 20 डिप्टी सीएम अलग-अलग जातियों के होंगे.

Publish Date: Fri, 30 Jul 2021 05: 45 PM (IST) | Author: Abhay Kumar Mishra

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − 9 =

Back to top button